दुनियाभर में छा जाएगा गूगल का प्रोजेक्ट लून इंटरनेट बैलून

379

Google's-Project-Loonवाशिंगटन: गूगल की नई कंपनी अल्फाबेट ने इंडोनेशिया के सुदूरवर्ती इलाकों में सैकड़ों नेट बीमिंग बैलूनों (गुब्बारा संचालित इंटरनेट) की सहायता से वेब संपर्क में बढ़ोतरी के लिए देश के तीन महत्वपूर्ण दूरसंचार कंपनियों के साथ गठबंधन किया है।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक यह पहल अल्फाबेट के शोध प्रभाग गूगल एक्स के प्रोजेक्ट लून का हिस्सा है, जो स्वत: संचालित कारों सहित महत्वाकांक्षी विचारों के माध्यम से कार्य करता है।

गूगल के सह संस्थापक सेर्जे ब्रिन ने कैलिफोर्निया के माउंटेन व्यू स्थित गूगल एक्स के मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि परिवारों व मित्रों से संपर्क नहीं हो पाना या वैश्विक संपर्क न बना पाना बेहद प्रतिकूल परिस्थिति है।

इस संवाददाता सम्मेलन में प्रोजेक्ट लून के उपाध्यक्ष माइक केसिडी तथा इंडोनेशिया के तीनों मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों- इंडोसैट, टेलकॉमसेल व एक्सएल एशियाटा के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया।

इंडोनेशिया दुनिया का सर्वाधिक आबादी वाला चौथा देश है, जहां 25.5 करोड़ लोग रहते हैं, जिनमें से दो तिहाई लोग इंटरनेट से अछूते हैं।

केसिडी ने कहा कि पहल को पहले ब्राजील, न्यूजीलैंड तथा ऑस्ट्रेलिया में एकमात्र सेवा प्रदाता के साथ परीक्षण कर लिया गया है।

केसिडी ने आगे कहा कि लगभग एक हजार बैलून पहले ही दुनिया भर में तैनात कर लिए गए हैं, जो लगभग 2 करोड़ किलोमीटर की उड़ान भर चुके हैं, जबकि कुछ ने तो दुनिया का 20 बार चक्कर लगा लिया है।

उन्होंने कहा कि दुनियाभर में चार अरब लोग अभी तक इंटरनेट की पहुंच से दूर हैं।

गूगल एक्स की योजना अगले कुछ साल में 10 करोड़ लोगों तक पहुंच बनाने की है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY