मप्र की मंत्री ने माना, बुंदेलखंड पैकेज में हुआ भ्रष्टाचार

278

Kusum-Mehdeleभोपाल: मध्यप्रदेश की लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग (पीएचईडी) की मंत्री कुसुम महदेले ने माना है कि केंद्र सरकार द्वारा बुंदेलखंड क्षेत्र के लिए दिए गए पैकेज में भ्रष्टाचार हुआ है। घपलों में लिप्त अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा के साथ जांच रिपोर्ट सामान्य प्रशासन विभाग को भेजी गई है।

यहां शुक्रवार को मीडिया से चर्चा करते हुए मंत्री कुसुम ने कहा कि बुंदेलखंड पैकेज की रकम उनके कार्यकाल में आई नहीं है। पहले जो रकम आई थी, उसमें गड़बड़ी की कई शिकायतें आई थीं।

मंत्री के तुताबिक, उन्होंने विभागीय जांच कराई और उसमें पाया गया कि बड़े पैमाने पर गड़बड़ियां हुई हैं। भ्रष्टाचार में लिप्त अफसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की अनुशंसा के साथ सामान्य प्रशासन विभाग को रिपोर्ट भेज दी गई है।

उन्होंने आगे कहा कि जांच में भ्रष्टाचार होने की बात सामने आई है, लिहाजा जो अधिकारी और कर्मचारी इसमें शामिल पाए गए हैं, उन पर सामान्य प्रशासन विभाग को कार्रवाई करनी है।

बुंदेलखंड क्षेत्र में मध्यप्रदेश के छह और उत्तर प्रदेश के सात जिले आते है। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार के कार्यकाल में लगभग 7,500 करोड़ रुपये का विशेष पैकेज बुंदेलखंड के लिए मंजूर किया गया था, जिसमें से 3700 करोड़ रुपये मध्यप्रदेश के हिस्से में आए थे। इसमें से बड़ी राशि क्षेत्र में पेयजल और सिंचाई के लिए थी। इस पैकेज से कराए गए लगभग सभी कार्यो में गड़बड़ी पाई गई है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY