बिहार से मूर्ति चुराने वाले गिरोह का सरगना उप्र में गिरफ्तार

403

Image-for-representation-2जमुई: बिहार के जमुई जिले के प्रसिद्घ जैन मंदिर से पिछले दिनों चुराई गई 24वें र्तीथकर भगवान महावीर की 2,600 वर्ष पुरानी मूर्ति की बरामदगी के बाद पुलिस ने इससे जुड़े तस्करों के सरगना और मुख्य साजिशकर्ता प्रकाश रजक को उत्तर प्रदेश के बरेली से गिरफ्तार कर लिया है।

जमुई के पुलिस अधीक्षक जयंतकांत ने बुधवार को आईएएनएस को बताया कि मूर्ति बरामदगी के बाद तस्करों की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही थी। इसी क्रम में जमुई पुलिस की एक टीम बरेली गई थी।

उन्होंने बताया कि रजक जमुई का रहने वाला है और मूर्ति चोरी करने के बाद यहां से फरार हो गया था। रजक से पूछताछ के बाद ही और बातें सामने आएंगी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, मूर्ति तस्कर गिरोह और कई अन्य लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि 27 नवंबर को जमुई जिले के खैरा क्षेत्र के जन्मस्थली मंदिर से भगवान महावीर की एक प्रतिमा चोरी हो गई थी। यह प्रतिमा लगभग 2,600 साल पुरानी है। पुलिस ने चोरी हुई मूर्ति जिले के सिकंदरा थाना के बिछवे गांव में एक झाड़ी से रविवार को बरामद की थी।

इस मूर्ति चोरी की खोज के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) जांच की अनुशंसा की थी और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात की थी।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY